Types or Classification of Operating system in Hindi

पिछले पोस्ट में हमने पढ़ था कि Operating System क्या है ? | इसके प्रकार और कार्य आज हम पढने वाले हैं Types or Classification of Operating system in Hindi तो चलिए आगे पढ़ते हैं -

Types of Operating System (ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रकार ):

Operating systems को उपयोग के आधार पर निम्नलिखित प्रकारों में विभाजित कर सकते हैं:

  1. Simple Batch Operating System
  2. Multiprogramming Batch Operating System
  3. Time-Sharing Operating System
  4. Parallel Operating System
  5. Distributed Operating System

1. What is Simple Batch Operating System?

Simple batch operating system में उपयोगकर्ता और computer के बीच परस्पर क्रिया नहीं होती, इसमें दोनों को एक दूसरे से communicate करने के लिए मध्यस्थ व्यक्ति की आवश्यकता होती इसमें उपयोगकर्ता अपने कार्य को पूरा करके operator को दे देता है, जो लिखित रूप में होता है।

batch operating system
batch operating system

इसके पश्चात् operator उन विभिन्न कार्यों को batch के रूप में computer में type करके भेजता है। इस भेजे गये विभिन्न jobs को भाषा के अनुसार एक दूसरे से जोड़ते हैं। इसके पश्चात् एक विशेष प्रकार के program के द्वारा प्रत्येक batch program को execution किया जाता है।

प्रोसेसिंग की क्रिया पूर्ण हो जाने के पश्चात् उन्हें मुख्य memory से primary memory में स्थानांतरित कर दिया जाता है। ये क्रिया प्रत्येक jobs के पूर्ण होने तक चलते रहते हैं और अंत में main memory को अन्य execution के लिए रिक्त कर दिया जाता है।

Example of Batch Operating System

Batch ऑपरेटिंग सिस्टम का उदाहरण - Payroll System, Bank Invoice System, Transactions Process, Research Segment, Billing System  इत्यादि हैं ।

Advantages of Batch Operating System:

  • Batch operating system में बार-बार किये जाने वाले कार्य को easly manage किया जा सकता है।
  • इसका idle prcocess टाइम बहुत ही कम होता है।
  • अनेक users batch system को शेयर कर सकता है।
  • किसी भी process को complete करने में लगने वाले समय का अनुमान लगाना या जानना बहुत ही कठिन होता है। बैच सिस्टम के processor जानते हैं कि कतार(queue) में काम करने में कितना समय लगेगा ।

Disadvantages of Batch Operating System:

  • इसमें किस job को पहले करना है और किसे बाद में इसके लिए प्राथमिकता का निर्धारण करने के लिए कोई सुत्र निर्धारित नहीं किया गया है।
  • इसमें उपयोगकर्ता और system के बीच बिल्कुल भी कम्यूनिकेशन नहीं होता है। जिसकी वजह से अनेक job ऐसे होते हैं जो operator के द्वारा गलत तरीके से कर दिया जाता है।
  • यह समय में काफी महंगा (costly)  हो जाता है। 

2. Multiprogramming batch Operating System:

इस तकनीक में operating system किसी एक job को execution के लिए लेता है और तुरंत उसका execution आरंभ कर देता है। जब उस job के process को आगे करने के लिए किसी प्रकार के input की आवश्यकता होती है उस दौरान उस job को waiting state में रखकर अन्य job का प्रोसेस आरंभ कर दिया जाता है। 

इस प्रक्रिया में memory की समस्या हो सकती है। इसके समाधान के लिए जो job wait state में होता है उसे main memory से secondary memory (Hard Disk) में स्थानांतरित कर दिया जाता है।

Multiprogramming system का लाभ यह है कि इसमें CPU idle stage में नहीं पहुंच पाता है। उसके पास लगातार process के लिए job उपलब्ध होते हैं।

Read Also - ऑपरेटिंग सिस्टम आर्किटेक्चर क्या है ? | OPERATING SYSTEM IN HINDI

3. Time sharing Operating System:

जब एक ही computer में अनेक उपयोगकर्ता अलग-अलग कार्य करते हैं तो time sharing की आवश्यकता होती है। इसमें एक ही processing unit से अनेक terminal (keyboard, mouse इत्यादि) को जोड़ दिया जाता है। इससे अलग-अलग processing unit लगाने का खर्चा बच जाता है और एक ही processing unit में अनेक उपयोगकर्ता अलग-अलग कार्य कर सकते हैं।

चूंकि एक से अधिक उपयोगकर्ताओं के द्वारा एक ही समय में अलग-अलग कार्यों को किया जाता है जिसे सम्पन्न करने के लिए CPU के द्वारा time sharing की जाती है। इसका लाभ यह है कि इससे आप अलग-अलग processing unit लगाने के खर्च एवं जगह को बचा सकते हैं।

Time sharing operating system
time sharing operating system

Time sharing का उदाहरण है railway reservation system जहाँ एक ही समय में अनेक व्यक्ति reservation ticket प्राप्त करने की कोशिश करते हैं परंतु इसमें जिस व्यक्ति का reservation request पहले आता है पहले उसी को berth देने का कार्य किया जाता है।

Time-sharing system, Multiprogramming की तरह ही कार्य करता है। इस system को multiprogramming system का विस्तार रूप माना जा सकता है। इन दोनों में मुख्य अंतर यह होता है कि multiprogramming system में अधिकतम जोर CPU को अधिक से अधिक उपयोग करने पर दिया जाता है जबकि time-sharing system में response time को कम करने पर जोर दिया जाता है।

Example of Time-Sharing Operating System

Time sharing ऑपरेटिंग सिस्टम का उदाहरण - Multics, UNIX, Linux, TOPS-20 (DEC), Windows NT server, Windows 2000 server, TOPS-10 (DEC)  इत्यादि हैं।

Advantages of Time-sharing Operating System

  • इसमें CPU idle टाइम को कम किया जा सकता है।
  • टाइम शेयरिंग का सबसे अच्छा फायदा यह है कि सभी task को एक निश्चित समय दिया जाता है।
  • response टाइम में काफी सुधार होता है।
  • यह प्रयोग करने में काफी आसान और उपयोगकर्ता के अनुकूल होता है।
  • इसका लाभ यह है कि इससे आप अलग-अलग processing unit लगाने के खर्च एवं जगह को बचा सकते हैं। 
  • software की डुप्लीकेशन process से बचा जा सकता है।

Disadvantages of Time-sharing Operating System

  • cpu का बहुत ज्यादा उपयोग करता  है। 
  • software की डुप्लीकेशन process से बचा जा सकता है।

    4. Distributed Operating System:

    इसे संक्षिप्त में DOS के नाम से भी जाना जाता है। Distributed system में कम्प्यूटर किसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए स्वतंत्र रूप से अन्य computer से communication कर सकते हैं। यह communication के लिए जानकारियों को स्थानांतरित करते हैं अर्थात् यह एक दूसरे को message भेजते हैं। इस message के द्वारा वह दूसरे computer से सभी प्रकार के कार्य को करा सकते हैं जैसे उन्हें किसी program को execute करना होता है तो इसके लिए message pass किया जाता है।

    Distributed Operating system in hindi
    Distributed Operating system

    इसमें computer के पास अपनी memory, CPU होती है जिसे यह किसी अन्य computer के साथ साझा नहीं करते। Distributed system में निम्न दो तकनीक होते हैं जिसके द्वारा computer system को संगठित किया जा सकता है:

    • Client Server Architecture
    • Peer to Peer Architecture

    i) Client/Server Architecture:

    Client server architecture एक प्रकार का network architecture है जिसमें से कुछ computer client के रूप में एवं कुछ computer server के रूप में कार्य करते हैं। Server एक ताकतवर computer होता है और एक server में अनेक client computer को configure कर सकते हैं। इसमें जिस computer को Server configure कर दिया जाता है उसका कार्य client के request पर response देना होता है। 

    इसमें एक server से अनेक client को जोड़ दिया जाता है जो center computer के रूप में कार्य करता है। इसके कार्यप्रणाली को समझने के लिए नीचे के चित्र को देखें:

    client server architecture in operating system
    clien server architecture

    ii) Peer-to-peer architecture:

    Peer to peer architecture में computer कुछ कार्य को सम्पन्न करने के लिए memory एवं processor को उपयोग करने की सुविधा देते हैं। इस system में memory एवं processor के कुछ अंश को अन्य computer के साथ साझा करके distributed processing पूर्ण करने में सहयोग देते हैं।

    peer to peer architecture in operating system
    p2p architecture in operating system

    इसमें लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए परिश्रम को बराबर बॉट दिया जाता है। इससे सभी computer के memory एवं CPU को उनके क्षमता के अनुसार कार्य करना होता है जिससे सभी बराबर परिश्रम करते हैं।

    Examples of Distributed Operating System are- LOCUS इत्यादि ।

    Advantages of Distributed Operating System:

    • data की processing टाइम कम होता है ।
    • ये सिस्टम आसानी से स्केलेबल हैं क्योंकि कई सिस्टम आसानी से network में add और remove किया जा सकते हैं।
    • cpu की लोडिंग process को कम किया जा सकता है क्योंकि इसमें task को cpu की कार्य क्षमता के अनुशार बराबर बाट दिया जाता है ।
    • यह बहुत तेज गति से कार्य करता है तथा इसमें response बहुत जल्दी प्राप्त होता है।

    Disadvantages of Distributed Operating System:

    • चूँकि इसमें एक ही server पर अनेक क्लाइंट को जोड़ दिया जाता है जिससे अगर server faile हो जाता है तो communication टूट जाता है ।
    • इस प्रकार के system आसानी से उपलब्ध नहीं होते हैं क्योंकि ये बहुत महंगे होते हैं। इतना ही नहीं अंतर्निहित software अत्यधिक जटिल है और अभी तक इसे अच्छी तरह से समझा नहीं गया है।
    • इसे उपयोग करना बहुत कठिन हैं।

      5. Parallel Operating System:

      वर्तमान computer को देखें तो यह अपने आरंभ के computer से काफी विकसित हो गया है वर्तमान computer में CPU की processing speed इतनी अधिक हो गई है कि यह बड़े-बड़े कार्यों को मिनटों में कर देता है। 

      इसलिए यह आवश्यक है कि CPU के idle process को समाप्त करने के लिए उसे एक समय में एक process न देकर उसके सामान्तर (parallel) में अन्य: process दिया जाये जिसे CPU उन jobs को लगातार करते जाता है। परंतु एक से अधिक process को सामान्तर करने के लिए यह आवश्यक है कि सभी process के विषय में जानकारी साझा किया जा रहा हो।

      PDF Notes Operating System PDF Notes Download Download PDF

      Post a Comment

      0 Comments

      Youtube Channel Image
      Rkonline | Learn Programming Language Subscribe To watch more Blogging Tutorials
      Subscribe