What is Computer Graphics and its Types in Hindi

what is computer graphics
कंप्यूटर ग्राफ़िक्स क्या है ? और इसके प्रकार

    Computer Graphics Fundamental:

    हेल्लो दोस्तों आज इस आर्टिकल में हम लोग Computer Graphics के बारे में पढने वाले है आप जानते है की ग्राफ़िक्स क्या होता है और उसे ड्रा कैसे किये जाते है जी हाँ पिक्चर या चित्र को ही ग्राफ़िक्स कहा जाता है तो चलिए निचे कुछ टॉपिक दिए गए है जिसे पढ़ कर समझते है :

    Computer Graphics क्या है ?

    “ computer Graphics एक कंप्यूटर विज्ञान की शाखा है जो कंप्यूटर की सहायता से image को उत्पन्न करने से संबंधित है। आज, कंप्यूटर ग्राफिक्स डिजिटल फोटोग्राफी, फिल्म, वीडियो गेम, सेल फोन और कंप्यूटर डिस्प्ले, और कई विशेष अनुप्रयोगों में एक मुख्य तकनीक है।computer graphics की मदद से हम इमेज को बनाने के अलावा विडियो गेम भी बना सकते है | “

    Advertisement

    कंप्यूटर की मदद से किसी graphics को तैयार करने को computer graphies कहा जाता है। Computer में graphics तैयार करने के लिए विशेष प्रकार के graphics software का प्रयोग किया जाता है, यह software designers को computer screen पर design बनाने में मदद करता है।

    यह image को screen में प्रदर्शित करने में काफी मदद करता है। साथ ही उसमें नया जोड़ने या उसे remove करने के कार्यों में भी काफी मददगार होता है। CAD/CAM में ऐसे कई software होते हैं जिनका प्रयोग graphics को तैयार करने के किया जाता है, Graphics को implements करने के कुछ basic requirements होते हैं।

    निम्न basic requirement है जो graphics, software के विकास में अहम भूमिका निभाते हैं।

    Read Also :Introduction To Web publishing - वेब पब्लिशिंग क्या है ?

    i) Simplicity – Software जितला simple होगा उतना ही उसमें कार्य करना आसान होगा। इसलिए यह आवश्यक है कि software casy और simple होने चाहिये।

    ii) Performance – Graphics software जितनी तेज गति से कार्य करेगा तो कम समय में अधिक से अधिक कार्य पूर्ण हो सकेंगे।

    iii) Consistency. – एक रियर result उपलब्ध कराने हेतु software को consistent होना आवश्यक है।

    iv) Reliability – Software का प्रयोग तभी किया जा सकता है जब उसके सभी tools विश्वसनीय हो। इसलिए उसे reliable होना चाहिये।

    v) Completeness – यह किसी graphics software के लिए महत्वपूर्ण होता है क्योंकि उसमें यदि उसमे पूर्ण material उपलब्ध नहीं है तो design का कार्य अधूरा रह जायेगा।

    vi) Economy – Software की कीमत बहुत अधिक नहीं होना चाहिए ययोंकि यदि उसके लाभ का अनुपात लागत से कम होगा तो उसे बाजार में बेचना आसान नहीं है।

    Types Of Computer Graphics :

    1. Interactive Computer graphics
    2. Non-interactive Computer graphics

    1. Interactive Computer graphics –

    जब ऑपरेटर एवं यूजर display में दिखाई देने वाली graphical deta के साथ एक या एक से अधिक इनपुट device के द्वारा intract कर सकता है उसे interactive Computer Graphics कहते है अर्थात यूजर इसमें कुछ भी बदलाव कर सकता है जैसे : विडियो गेम , फोटोशॉप | Interactive device का अर्थ है ऐसे device जो computer से परस्पर संवाद करते रहते हैं अर्थात् उपयोगकर्ता और computer के बीच परस्पर संवाद स्थापित करते रहते हैं।

    जैसे ऐसे input/output device जिनका computer और उपयोगकर्ता के बीच लगातार संवाद चलता रहता है जैसे keyboard यह एक ऐसी input device है जिसका उपयोग user लगातार computer को data भेजने में करता है इसी प्रकार output device में monitor जो लगातार process के बाद प्राप्त output को उपयोगकर्ता के लिए प्रदर्शित करता रहता हैं।

    2. Non-Interactive Computer Graphics –

    कुछ ऐसे भी device होते है जो उपयोगकर्ता के नियंत्रण में नहीं होता जैसे computer data को process करने के लिए अपने समस्त hardware का उपयोग बिना उपयोगकर्ता के कर सकता है।

    ” इस प्रकार के device को non- intreractive device कहते हैं।”

    Application of Computer Graphiles system:

    Graphics system व्यक्ति और कम्प्यूटर के बीच संबार का एक उपयोगी माध्यम होता है। Graphics system, human graph, pictorial image, a geometric shape a table Car Graphics and Multimedia तुलना में अधिक गति एवं शुद्धता से कार्य करता है।

    Computer graphics की बहुत सी विशेषताएं होती है जिन्हें निग्न तीन समूहों में बाँटा गया है।

    1) इसमें उपयोगकर्ता का graphics घर पूर्ण नियंत्रण होता है। दर जिस प्रकार का graphics तैयार करना चाहता है उसके लिए उपके पास अनेक सुविधाएं होती है जिससे वह आसानी से उसे तैयार कर लेता है।

    ii) Computer graphics में किसी image की तैयार करने के लिए अनेक रास्ते होते है जिसमें से एक vector graphics होता है जिसमें image को lines में combine करके बनाई जाती है। जबकि raster graphics में pixels का प्रयोग किसी image को बजाने या उसमें जोड़-तोड़ करने हेतु किया जाता है।

    iii) इसकी तीसरी category image space graphics एवं object space graphies के बीच अंतर को दर्शाता है। Image space graphies जिसमें image अपने से ही picture तैयार करने के लिए manipulate होता है। Object space graphics जिसमें image किसी separate model को दर्शाता है।

    किसी graphics package के कार्य नीचे दिये गये sets में समूहबद्ध किये जाते हैं। 

    Functions of a graphics package:

    • Generation of graphics element
    • Transformation
    • Display control & windowing functions
    • Segmenting functions
    • User input functions

    Advertisement

    किसी भी computer graphics की image जैसे dot, line, circle, rectangic, arc को graphics clement भी कहते है। इनमें alphanumeric character या special symbols को भीसम्मिलित किया जाता है। इसमें 3D graphics जैसे square, cube, cylinder इत्यादि का प्रयोग किया जाता है।

    Transformation (परिवर्तन) का प्रयोग display screen पर प्रदर्शित होने वाली image change करने के लिये और इसे database में store करने के लिये किया जाता है। इसमें image को छोटा या बड़ा भी किया जा सकता है। Display control और windowing function के द्वारा image को desired angle में देखा जा सकता है।
    Window object model के image से इस function का प्रयोग करके invisible lines को remove करने कर सकते हैं। ताकि उसे आसानी से समझा जा सके।

    Segment का तात्पर्य image के particulars portion को select, replace, delete या modify करणे से होता है।किसी image की particulars portion को segment कहा जाता है। User input functional का use system में operator के द्वारा command या function के द्वारा ICG (Interactive computer graphics) के interactive features को बढ़ाया जा सकता है।

    अंतिम शब्द –

    Hii Guys …! आज हमने पढ़ा What is Computer Graphics Its Types आदि ,आशा करता हूँ की ये पोस्ट आपको काफी अच्छा लगा होगा और मुझे एसे नहीं लगता की आपको समझ में नहीं आया होगा अगर फिर भी समझ में नहीं आया उसे आप कमेंट बॉक्स में हमसे पूछ सकते है | अगर आपको लगता है ये पोस्ट आपके फ्रेंड्स तक भी जाना चाहिए तो प्लीज शेयर कीजिये | और अपडेट पाने के लिए हमारे न्यूज़ लैटर को सब्सक्राइब कीजिये |

    Post a Comment

    0 Comments

    Youtube Channel Image
    Rkonline | Learn Programming Language Subscribe To watch more Blogging Tutorials
    Subscribe