Register Memory क्या है ? | इसके कितने प्रकार होते है ?

Register Memory CPU मेमोरी होती है जो जल्द से प्रोसेस करने वाले डाटा के एड्रेस को रखता है तो चलिए इस मेमोरी के बारे में अधिक से जानते है :

what is register memory
Register Memory

Definition Of Register (रजिस्टर कि परिभाषा ) :

Register को CPU Memory भी कहा जाता है । Register एक प्रकार का छोटा आकार का कंप्यूटर memory होता है, जिसका प्रयोग डाटा या instruction को तेजी (speed) से Store करने के लिए किया जाता है । रजिस्टर को एक उदहारण से समझते है।

रजिस्टर मेमोरी ठीक उसी प्रकार है जिस प्रकार जब हमें प्यास लगती है तो पानी पिने के लिए अपने फैमिली मेबेर्स को कहते (निर्देश देते है ) की “माँ एक गिलास पानी लाना तो “ तब जा कर माँ एक गिलास में पानी भर कर लाकर देती है ऐसा तो नहीं करती न की पूरा पानी टैंक को लेकर आती हो .अगर माँ से एसे बोलते माँ मुझे जग भर पानी चाहिए तो माँ जग भर पानी लाकर देती है ।

कहने का मतलब यह है कि हम कंप्यूटर के Main Memory में स्टोर किये गये डाटा में किसी प्रकार का कोई execution कराना होता है तो Processor सीधे main मेमोरी में न जाकर रजिस्टर मेमोरी में जाता है फिर रजिस्टर मेमोरी Main Memory से उस डाटा को अपने अन्दर स्टोर करके रख लेती है तब जा कर प्रोसेसर को डाटा प्राप्त होता है और किस query में क्या operation करनी है ये सब काम करने के बाद output device में show कराती है ।

What is Register (रजिस्टर क्या है ?) :

Register computer के processor का एक भाग होता है जिसका कार्य तेजी से processor को data उपलब्ध कराना होता है। Register उन डाटा या निर्देशों को रखता है जिस पर तुरंत कार्य करना होता है। यह एक समय में किसी डाटा के केवल एक भाग को रखता है। इसमें data का transfer एवं प्राथमिक storage में data in या out एक high speed operation से होता है। वास्तव में register का आकार एवं register की संख्या computer की speed निर्धारित करने में मदद करता है ।


इसे भी पढ़े –
What is Data And Programs | How Many types Of Data – In Hindi
What is Web-Site Testing And Uploading Web-Page in Server In Hindi

Daigram Of Register Memory

Daigram of register memory

CPU रजिस्टर निम्नलिखित कार्य परफॉर्म करता है :

Fetch – ( यूजर के द्वारा निर्देश या डाटा प्राप्त करना )
Decode – ( यूजर डाटा को इन्टरप्रेट कर डिकोड करना )
Execute – (डाटा पर सीपीयू के द्वारा एक्सीक्यूट करना और आउटपुट को मैं मेमोरी में स्टोर कर आउटपुट डिस्प्ले कराना) कुछ प्रमुख register जिनका उपयोग किये जाते हैं उनके नाम निम्न हैं:
  1. Memory Address Register
  2. Instruction Register
  3. Address Register
  4. Accumulator
  5. Program counter
  6. Memory Buffer Register

1). Memory Address Register (MAR):

यह register data या instructor के address को रखता है। निदेर्शों के execution के दौरान memory से data या instruction को access करने का कार्य यह register करता है। उदाहरण के लिये यदि CPU को memory से पढ़ने या उसमें लिखने के लिए किसी data की आवश्यकता है तो वह MAR के आवश्यक memory location पर address को रखता है। इस register का उपयोग memory की addressing के लिए किया जाता है। यह register information के उस address को रखता है जहां से वह आ रहा है और जहां उसे store होना है।

दूसरे शब्दों में, इस रजिस्टर का उपयोग निर्देश के Execution के दौरान डेटा और निर्देशों को मेमोरी से एक्सेस करने के लिए किया जाता है। MAR डेटा की मेमोरी लोकेशन रखता है जिसे एक्सेस करने की आवश्यकता होती है। मेमोरी से पढ़ते समय, MAR द्वारा संबोधित डेटा MDR (मेमोरी डेटा रजिस्टर) में फीड किया जाता है और फिर सीपीयू द्वारा उपयोग किया जाता है। मेमोरी में लिखते समय, CPU एमडीआर से मेमोरी लोकेशन का डेटा लिखता है जिसका पता MAR में संग्रहित है। MAR, जो सीपीयू के अंदर पाया जाता है, या तो रैम (रैंडम एक्सेस मेमोरी) या कैश में चला जाता है।

इसे भी पढ़े
Introduction To Web publishing – वेब पब्लिशिंग क्या है ?
Input Devices क्या है ? और इसके कितने प्रकार होते है ?

2). Instruction Register (IR):

Computer में IR ( Instruction Register ) और CIR( current Instruction Register ) CPU कण्ट्रोल यूनाइट का एक छोटा पार्ट होता है जो वर्तमान में executed या Decode किया गया निर्देश (Instruction)को रखता है।

Processor के द्वारा किसी दिए गए समय में केवल एक ही instruction को execute किया जाता है। यह register उस instruction को control unit (नियंत्रण कक्ष) में जाने से पहले संग्रहित करके रखता है।

कुछ जटिल प्रोसेसर निर्देश रजिस्टरों की एक पाइपलाइन का उपयोग करते हैं जहां पाइपलाइन का प्रत्येक चरण डिकोडिंग, तैयारी या निष्पादन का हिस्सा होता है और फिर इसे अपने चरण के लिए अगले चरण में पास करता है। आधुनिक प्रोसेसर क्रम से बाहर कुछ कदम भी कर सकते हैं क्योंकि कई निर्देशों पर डिकोडिंग समानांतर में की जाती है।

3). Address Register (AR):

ये register memory addressing के साथ conjunction में उपयोग होता है। MAR basically किसी data के memory address को तब store करके रखता है जब वह या तो memory से load होता है या memory में store होता है। जबकि AR storage जब तक किसी data की आवश्यकता होती रहती है तब तक उसके location के address को hold करके रखता है।

4). Accumulator (AC):

यह ALU के अंतिम processing के दौरान के result को store करके रखने के लिए होता है। किसी भी रजिस्टर जैसे accumulator के बिना मुख्य मेमोरी में प्रत्येक कैलकुलेशन (जोड़, गुणा, भाग, आदि) का परिणाम लिखना आवश्यक होगा। Main Memory को एक्सेस करने की तुलना में रजिस्टर मेमोरी काफी तेज होती है हलाकि main memory सस्ती होती है ।

5). Program Counter (PC)

Program counter को ही Intel x86 processor के लिए इसे Instruction Pointer (IP) कहा जाता था। कुछ स्थितियों में इसे Instruction address register या processor register भी कहा जाता है। यह hardware memory device है जो execution के दौरान current instruction के location को दर्शाता है।

यह 8085 processor के लिए एक 16 bit का विशेष कार्य के लिए register के में उपयोग होता है। जब microprocessor के द्वारा किसी निर्देश execute किया जा रहा होता है तो यह निर्देश के अगले memory address के track को रखता है।

6). Memory Buffer Register (MBR):

MBR को Memory Data Register के रूप से भी जाना जाता है CPU में रजिस्टर होता है जो डाटा को ट्रान्सफर करने से पहले immedite access किया जाता है ।इसमें मेमोरी एड्रेस रजिस्टर के द्वारा निर्दिष्ट मेमोरी स्थानों की कॉपी है। यह register MAR के द्वारा निर्धारित memory location की एक copy रखता है। जिसे किसी data को ‘Read’ या ‘Write’ करते समय उपयोग किया जाता है अर्थात यह register, memory में आ रहे या memory से जा रहे data एवं instruction को संग्रहित करके रखता है ।

What is difference between RAM and register?

Diffirence Between Register And RAM Memory

Sr No. Register RAM Memory
01 रजिस्टर उन ऑपरेंड्स या इंस्ट्रक्शन को होल्ड करता है जो CPU वर्तमान में प्रोसेस कर रहा है। मेमोरी उन निर्देशों और डेटा को रखती है जो वर्तमान में सीपीयू में प्रोग्राम निष्पादित कर रहे हैं।
02 रजिस्टर में 32-बिट्स से 64-बिट्स के आसपास डेटा की थोड़ी मात्रा होती है। कंप्यूटर की मेमोरी कुछ जीबी से लेकर टीबी तक हो सकती है।
03 सीपीयू एक घड़ी चक्र में एक से अधिक ऑपरेशन की दर से रजिस्टर सामग्री पर काम कर सकता है। सीपीयू रजिस्टर की तुलना में धीमी दर से मेमोरी एक्सेस करता है।
04 इस प्रकार का मेमोरी. प्रकार एक्युमुलेटर रजिस्टर, प्रोग्राम काउंटर, इंस्ट्रक्शन रजिस्टर, एड्रेस रजिस्टर आदि हैं । इस प्रकार की मेमोरी रैम, रोम, मैन मेमोरी आदि हैं।
05 रजिस्टर पर नियंत्रण किया जा सकता है यानी आप उनसे जानकारी संग्रहीत और पुनर्प्राप्त कर सकते हैं। स्मृति लगभग नियंत्रित नहीं है।
06 रजिस्टर मेमोरी बहुत तेज गति से कार्य करता हैं। रजिस्टरों की तुलना में RAM बहुत धीमी है।

FAQ Of Register Memory

What are the advantages of register?
  1.  its very fast
  2.  It works at a much faster speed than man memory.
  3.  Registers can be controlled, that is, you can store and retrieve information from them.
  4.  The CPU can operate on the register contents at a rate of more than one operation in a clock cycle.
What is register made of?

simple word in register made for Memory allocation. which data immediately process by CPU.
Where are registers stored in memory?

Processor registers are normally at the top of the memory hierarchy, and provide the fastest way to access data.
What type of memory are registers?

Registers do not have memory. Registers are storage locations within the CPU.

Post a Comment

0 Comments

Youtube Channel Image
Rkonline | Learn Programming Language Subscribe To watch more Blogging Tutorials
Subscribe