HTML क्या है -What is Html ? HTML का परिचय | Version Of HTML | In Hindi

Html क्या है ?  

Html Kya hai ? Html Ka version Html Ka full Form
HTML kya hai ?

HTML का पूरा नाम (Full Form) Hyper Text Markup Language होता है जिसका उपयोग वेबसाइट बनाने के लिए किया जाता है । Html एक प्रोग्रामिंग language होता है जिसका उपयोग Interactive web page बनाने के लिए किया जाता है । html की सहायता से हम विभिन्न प्रकार के pages आसानी से बना सकते है ।

" सरल शब्दो में कहे तो HTML विभिन्न प्रकार के Attribute,Tags, Properties elements का समूह होता है जिसका उपयोग static web-page बनाने के लिए किया जाता है । "

Html में विभिन्न प्रकार के tags होते है जैसे - Header Tags, Paragraph Tags, Body Tags, Sidebar Tags, Footer Tags, Article tags, Image Tag, Button Tags Column Tags, Table Tags आदि एसे बहुत से टैग उपलब्ध है जिसकी सहायता से आप वेब-पेज बना सकते है तथा विभन्न प्रकार के कार्य को करवा सकते है । निचे Html का परिचय तथा वर्क दिया गया है -

Introduction to HTML:

HTML, Hyper Text Markup Language शब्द संक्षिप्त नाम है। इसमें सामान्य text का उपयोग करके web design किया जाता है।  HTML अत्यन्त सरल programming Language होता है। इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के elements दिखाने के लिए किया जाता है। इस language को सन् 1990-1991 में  Tim Bemers-Lee ने तैयार किया था।

Web browser में यह सुविधा होती है कि वह HTML code को सीधे पढ़ सकता है। Web browser, HTML code को पढ़कर उसके अनुसार web-site प्रदर्शित करता है। Web browser, HTML tag एवं script को प्रदर्शित नहीं करता, परंतु उस tag या script के व्याख्या के अनुसार page को प्रदर्शित करता है।

How HTML work:

  • Text format में दोनों किनारे में एक छोटा code लिखते हैं। जिसे tag कहते हैं। इसी tag से यह निर्धारित होता है उसके अन्तर्गत type किये गये text को किस प्रकार व्यवहार करना है ।
  • अब इस type किये गये text को '.html' format में save करते हैं।
  • इस html file को browser पर execute करते हैं।
  • Browser इन file को text से visible (graphical, text, components इत्यादि) रूप में परिवर्तित करता है।

Definition of Hyper Text Markup Language (HTML):

Hyper Text Markup Language एक वाक्य है इसके प्रत्येक शब्द की एक अर्थ होता है जिसे नीचे परिभाषित किया गया है ।

  1.  Hyper text: यह शब्द इसलिये उपयोग किया गया क्योंकि link text को hyperlink' जिस पर click करके एक page से दूसरे में जा सकते हैं। तो इसी शब्द से hyper text शब्द बनाया गया।
  2. Markup: इसमें उपयोग 'tag' के वजह से markup शब्द उपयोग किया गया क्योकि opening एवं closing tab किसी command के दोनों तरफ लगाया जाता है जो उसे एक तरह से 'mark' करता है इसलिये इस शब्द को लिया गया।
  3. Language: क्योंकि इसमें अन्य programming language की तरह ही code उपयोग किया जाता है इसलिये इसे language कहते हैं।

Concepts of Hypertext: Hypertext में programming करने के निम्न concept है -

The tool which you require:

HTML को type करने के लिये Notepad इत्यादि simple text editor की आवश्यकता होती है। इसके लिये किसीविशेष प्रकार के text जो खास design में type है (जैसे आप word processing software में type करते है) इसकी आवश्यकता नहीं है।

Rules: HTML code को type करने के कुछ सामान्य नियम जिसका पालन करते हुये आप इसमें programming कर सकते हैं जैसे किसी भी command को single bracket <> के अन्तर्गत type करना है जिसे tag कहते हैं।

Case sensitive: इसमें code को किसी भी case में type कर सकते हैं उसके कार्य में किसी प्रकार का प्रभाव नहीं पड़ेगा, अर्थात यह case sensitive नहीं होता। 

Elements: दो anguler bracket (<>) के बीच में जो type करते हैं उसे clement कहते हैं, इसे एक प्रकार से html का command कह सकते हैं। यह छोटे एवं सरल शब्दों में होता है जैसेः <br> जब आप किसी line का अंत करना चाहते हैं।

HTML structure: HTML document को दो मुख्य भागों में बांटे जाते हैं एक head एवं दूसरा body!

Contener and open tag: HTML में अधिकांश tag को open और close किये जाते  हैं, जिसमें विशेष प्रकार के element को रखा जाता है इस प्रकार के tag को container tag कहा जाता है। 

Example:

<html> </html>
<head>Your Link And Script</head>
<title>Your SIte Title Here</title>
<body>
	{
		Your Content
	}
</body>

HTML में कुछ टैग को close करने की आवश्यकता नहीं होती जिसे open Tag कहते है :

Example:

<BR> , <HR>,  <Option > इत्यादि

Version of HTML -

  1. HTML1.0 - यह पहला संस्करण Tim Berners-L.ce ने लगभग सन 1990 में तैयार किया इसे HTML 1.0 version के नाम से जानते है इसमें बहुत ही कम विशेषता थी, इसलिये यह web-page बनाने के लिए पर्याप्त नहीं था।
  2. HTML2.0 -  पहले संस्करण में काफी कुछ सुधार करके वर्ष 1995 में इस version को बनाया। इसमें अनेक नयी विशेषताएं जैसेः table, client side image map इत्यादि को जोड़ा।
  3. HTML3.2 -  यह पहला संस्करण था जिसे w3c से मान्यता प्राप्त हुआ। इसे w3c के standard के अनुसार बनाया गया या। इसमें  TABLE, IMAGES, HEADING इत्यादि atribute को जोड़ा गया। उस समय Netscape browser सबसे अधिक उपयोग में आ रहा था। उस समय html के लेखकों ने netscape browser को ध्यान में रखकर code लिखना आरंभ किया।
  4. HTML4.01 - यह एक मान्यता प्राप्त standard संस्करण है जो वर्तमान में भी उपयोग में लाया जाता है। यह एक नयी विशेषता CSS support करता है साथ ही TABLES, FORM, JavaScript इत्यादि को भी support करता है।

HTML की विशेषताएँ

Html की उपयोगता को देखकर हम उसकी विशेषताएँ को बता सकते है , आज Html का उपयोग काफी हद तक बढ़ गया है इसे उपयोग करना काफी सरल कार्य है :

It is easy To Learn And Use -

html को C++, Java, PHP, Python आदि प्रोग्रामिंग भाषा की तरह पढना कठिन नहीं होता इसे आसानी से पढ़ा और उपयोग किया जा सकता है 

Allow Media Add - 

Html Audio, Video, Image, Pdf, आदि को अपने वेब पेज में include करने का option देता है जिस टैग के द्वारा आसानी से हम मीडिया फाइल को शामिल कर सकते है 

Open Source Software- 

Html कोड को टाइप करने या लिखने के लिए किसी प्रकार की सॉफ्टवेर खरीदने की आवश्यकता नहीं होती इसे किसी भी text - editor में आसानी से type किया जा सकता है और किसी भी browser में run कराया जा सकता है 

Multiple Section Provid -

अपने वेब पेज के लिए विभिन्न सेक्शन बनाने के लिए html एक बेस्ट साधन है जिसके जरिये से आर्टिकल सेक्शन , साइड बार , फूटर ,multiple कॉलम आदि आसानी से बना सकते है तथा css के माध्यम से style कर सकते है 

Disadvantage Of HTML :

  • आप html के माध्यम से अपने वेबसाइट में फंक्शन ऐड नहीं कर सकते ।
  • Html का प्रयोग सिर्फ web-structure बनाने के लिए किया जाता है इसके माध्यम से आप अपने वेबसाइट को स्टाइल नहीं कर सकते ।
  • Html का प्रयोग static web page बनाने के लिए किया जाता है इससे आप Dynamic webpage नहीं बना सकते ।

अंतिम शब्द :

हेल्लो फ्रेंड्स ..! आज इस आर्टिकल में हमने सिखा की html क्या होता है ? html की परिभाषा, version, feature,disadvantage. दोस्तों आशा करता हूँ की ये आर्टिकल आपको अच्छा से समझ में आया होगा ।अगर इस पोस्ट से रिलेटेड कोई भी सवाल हो हमें कमेंट बॉक्स में बताना । और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों तक पहुंचाए 

..जय हिन्द    जय छत्तीसगढ़ ..

Post a Comment

0 Comments

Youtube Channel Image
Rkonline | Learn Programming Language Subscribe To watch more Blogging Tutorials
Subscribe